Home व्यक्तित्व विकास खुद को बेहतर बनाने के टिप्स | Self Improvement Tips…..

खुद को बेहतर बनाने के टिप्स | Self Improvement Tips…..

139
0
SHARE

मैं अपनी ज़िन्दगी को सरल बनाने में प्यार करता हूँ. और ऐसा करना ही मुझे प्रभावित बनाता है और कम दुःखी करता है. लेकिन आपको शुरुवात कहा से करनी चाहिये? और यदि आप पहले से ही अपने रास्ते में हो तो क्या उसी रास्ते पर चलते रहना चाहिये? आजके इस लेख में मैं आपको Self Improvement Tips बताने वाला हूँ. इनमे से आप किसी एक का भी चुनाव कर सकते हो और उसे अपने जीवन में अपना सकते हो.

खुद को बेहतर बनाने के टिप्स – Self Improvement Tips In Hindi

1. उन चीजो को ना करे जिन्हें आप करना पसंद ही नही करते. ज़िन्दगी बदलती है और आपको भी बदलते रहना है. यदि आप कोई काम अब और नही करना चाहते तो उसे करना छोड़ दीजिये. (भले ही ऐसा करने में थोडा समय लग सकता है.)

2. एक समय में एक ही काम करे. ऐसा करते समय आपको अच्छा परिणाम मिलेगा और आप अच्छा महसुस करोगे और कम दुःखी होंगे.

3. हर रविवार को कम से कम 10 से 15 मिनट पुरे सप्ताह की प्लानिंग करने में बिताये. उस समय में अपने पुरे सप्ताह के प्लान के बारे में लिखे, अपनी टू-डू-लिस्ट को देखकर उस हिसाब से तैयारी करे. इससे आप अपने कामो को पूर्णता से कर सकते हो, ऐसा करने से आप अपने सारे काम बिना किसी चिंता के आराम से कर सकोगे.

4. सभी खाद्य सामग्री की शॉपिंग सप्ताह में एक ही बार करे. इससे आप अपना समय, ऊर्जा और पैसे भी बचा सकते हो.

5. जब आप दुःखी हो, किसी समस्या में हो या अपने भुत-भविष्य की चिंता कर रहे हो तो बैली (Belly) से 2 मिनट तक लंबी साँस ले और जो हवा अंदर-बाहर हो रही है केवल उसी पर ध्यान दे. इससे आपका शरीर शांत रहेगा और आपके दिमाग को दोबारा वर्तमान पल में लायेगा.

6. चीजो को पूर्णता से करने को कोशिश न करे. आप चीजो को अच्छी तरह से कर सकते हो और जब अच्छी तरह से कर सकते हो तब आपको जरूर करते रहना चाहिये. चीजे जिन रास्तो में पूरी होती है उन्ही वही पूरा होने दे, उनका रास्ता बदलकर पूर्णता से करने की कोशिश न करे.

7. दिन में एक बार सभी की जाँच करे. मैं अपने ईमेल इनबॉक्स, ब्लॉग स्टॅटिस्टिक, ऑनलाइन अर्निंग, ट्विटर और फेसबुक को दिन में सिर्फ एक ही बार देखता हु. मेरे कार्य समय के खत्म होते ही हम इन सभी को देखता हु क्योकि मैं कभी अपनी ऊर्जा और ध्यान को व्यर्थ नही गवाता.

8. रोज़ छोटे दयालुता भरे एक्ट का चुनाव करे. आलोचना भरे कामो को रकने से अच्छा दयालुता भरे एक्ट में अभिनय करे.

9. उन चीजो को फेंक दे जिनका पिछले 1 साल से आपने उपयोग न किया हो. जो चीजे आपके पास है उन्ही के बल पर आगे बढे और अपनेआप से पूछे की क्या पिछले साल उन चीजो का उपयोग किया था. यदि नही तो उन्हें किसी और को या फिर अपने दोस्त को दे दे या फेंक दे.

10. रोज़ अपनेआप से एक सरल प्रश्न पूछे. प्रश्न जैसे की, “अभी कौनसी महत्वपूर्ण चीज है जो मै कर सकता हु?” और “परिस्थिति को सरल बनाने के लिये कौनसा छोटा कदम मुझे लेना चाहिये?”.

11. चीजो को उन्ही के जगह पर रहने दे. यदि सबकुछ अपनी वास्तविक जगह पर ही रहे तो काम होने पर आपको वो आसानी से मिल जायेंगी.

12. उन चीजो के सब्सक्रिप्शन को बंद कर दे जिसे आप बहोत कम पढ़ते या देखते हो.

13. छोटे ईमेल लिखे. साधारणतः मैं कम वाक्यो वाले, अक्सर 1 से 5 वाक्यो के ही ईमेल लिखता हु. लेकिन यदि आप छोटे से छोटा ईमेल लिखो तो आप आसानी से बड़ी से बड़ी परिस्थिति को छोटे शब्दों में बयाँ कर सकते हो.

14. अनुमान लगाने की बजाये पूछे. दिमाग को पढ़ना काफी मुश्किल है. इसीलिये अंदाज़ा लगाने की बजाये पूछे और बातचीत करे. इससे आप ग़लतफ़हमी, मुश्किलो और नकारात्मकता और समय के व्यर्थ होने से बच सकते हो.

15. छोटे से छोटे कार्यस्थल का उपयोग करे. मेरा कार्यस्थल केवल एक लैपटॉप है जो एक छोटे से लकड़ी के टेबल पर रखा हुआ है. जिसपर पीछे की तरफ पानी का गिलास भी रखा होता है. मेरे कार्यस्थल पर मैं, कंप्यूटर और केवल पानी ही होता है.

16. सभी को खुश करना बंद करे. क्योकि हम सभी की ज़िन्दगी में ऐसे कुछ लोग जरूर होते है जिन्हें साथ लेकर हम कभी आगे नही बढ़ सकते इसीलिये सभी को खुश करने की कोशिश न करे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here